तीन साल के बच्चे को टीचर ने बेरहमी से पीटा, टीचर के खिलाफ मामला दर्ज

गुणवंती परस्ते
पुणे – पुणे के एक स्कूल में तीन साल के बच्चे को टीचर द्वारा बुरी तरह पिटाई करने की बेरहम घटना सामने आयी है. तीन साल के मासूम को डंडे से इतनी बुरी तरह से पीटा गया कि उसकी दोनों आंखों में सूजन और शरीर में मार के निशान साफ नजर आ रहे हैं. नर्सरी में पढ़नेवाले देव कश्यप इस पिटाई के बाद से बुरी तरह घायल है, शिक्षिका के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. पर अभी तक शिक्षिका को पुलिस ने गिरफ्तार नहीं किया है. जिससे बच्चे के अभिभावक पुलिस की कारवाई से काफी खफा भी नजर आए.
पुणे के पिंपले गुरव स्थित भाऊनगर में कश्यप परिवार रहता है. देव कश्यप के माता पिता मजदूरी काम करते हैं, उनका बच्चा बड़ा होकर मजदूर न बनें, इसलिए दिन रात मेहनत करके माता पिता अपने बच्चे को इंग्लिश मीडियम स्कूल में पढ़ाई के लिए नर्सरी क्लास में एडमिशन करवाया था. अपने बच्चे को स्कूल भेजकर दोनों माता पिता अपने रोज के काम में बिजी थे. जब बच्चा स्कूल से घर आया तो मां ने बच्चे के चेहरे, आंख और शरीर पर जख्म के गहरे निशान देखे. बच्चे की हालात देखकर मां ने तुरंत बच्चे को इलाज के लिए हॉस्पिटल लेकर गयी, साथ ही इस बात की जानकारी देव के पिता को भी दी. बच्चे की हालात देखकर दोनों माता पिता काफी परेशान हो गए. हॉस्पिटल में बच्चे का इलाज करनेवाले डॉक्टरों ने माता पिता को बच्चे को बुरी तरह से पीटा गया है, इस मामले में माता पिता ने शिक्षिका के खिलाफ सांगवी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवायी है. बाल सरंक्षण कानून के तहत शिक्षिका भाग्यश्री पिल्ले के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. शिक्षिका को अबतक पुलिस ने गिरफ्तार नहीं किया है, अभिभावक द्वारा शिक्षिका को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की मांग की जा रही है. पुलिस ने माता पिता को आश्वासन दिया है कि जल्द ही शिक्षिका को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.
शिक्षिका द्वारा देव को इतनी बुरी तरह से पीटा गया है कि बच्चे की दोनों आंखों में सूजन आ गयी है, जिसके कारण बच्चे को देखने में भी तकलीफ हो रही है. बच्चे की आंख में खून जमा हो गया है, पीठ पर भी मार के निशान बन गए हैं. बच्चे को काफी तकलीफ हो रही थी, उसकी तकलीफ माता पिता को देखी नहीं जा रही थी. बार बार वो शिक्षिका को गिरफ्तार करने की बात कर रहे थे, तीन साल के बच्चे  को इतनी बेरहमी से टीचर ने क्यों पीटा. इस सवाल को बार बार रो-रोकर दोहरा रहे थे. बच्चे के पिता संतोष कश्यप और माता लक्ष्मी कश्यप शिक्षिका की शिकायत करने पहले पिंपले गुरव पुलिस चौकी गए थे, वहां से पुलिस ने उन्हें सांगवी पुलिस स्टेशन जाने को कहा था. पुलिस ने देव की मां को पहले बच्चे का मेडिकल चेकअप कराने को कहा, उसके बाद आगे की कारवाई की जाएगी. औंध स्थित सरकारी हॉस्पिटल में मेडिकल चेकअप कराने के लिए कहा था. मां को अकेले इतनी भागदौड़ करना मुश्किल था, इसलिए लक्ष्मी कश्यप ने अपने बच्चे का इलाज कराके घर वापस आ गई थी. आखिरकार मीडिया के दवाब के चलते पुलिस ने बुधवाार देर रात शिक्षिका के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

September 14th, 2017

Posted In: Pune Express

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Neutral Opinion

LET’S MAKE OUR ROADS SAFE: PART 2

RAJ GONSALVES   Practice What You Preach   Often we are told to practice what we preac.. read more

All rights reserved copyright ©2017
Visitor Count: 532701
Designed and maintained by Leigia Solutions